नीलकुरिंजी-12 वर्षों के पश्चात फिर से खिलने के लिए तैयार

क्याः  नीलकुरिंजी फूल कहांः  मुन्नार, पश्चिमी घाट क्योंः  12 वर्षों के पश्चात खिलेगा नीलकुरिंजी (Neelakurinji) पश्चिमी घाट के मुन्नार में 12 वर्षों के पश्चात फिर से खिलने के लिए तैयार है। इस फूल के खिलने से केरल में मुन्नार के Read More …

जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय ने शुरु की ‘जल बचाओ – वीडियो बनाओ – पुरस्‍कार पाओ’ प्रतियोगिता

जल संरक्षण तथा जल प्रबंधन संबंधी महत्‍वपूर्ण मुद्दों पर भारतीय नागरिकों को शामिल करने के लिए जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्रालय ने एक वीडियो प्रतियोगिता ‘जल बचाओ – वीडियो बनाओ – पुरस्‍कार पाओ’ (Jal Bachao, Video Banao, Read More …

मणिपुर की लोकटक झील में मिले कई उपयोगी जीवाणु

शुभ्रता मिश्रा Twitterhandle : @shubhrataravi वास्को-द-गामा (गोवा), 9 जुलाई :  मणिपुर की लोकटक झील दुनियाभर में अपने तैरते हुए द्वीपों या फूमदी के लिए जानी जाती है। वनस्पतियों, मिट्टी और जैविक तत्वों से बनी फूमदी झील पर तैरते हुए किसी भूखंड की Read More …

अरुणाचल में मिली अदरक की दो नई प्रजातियां

निवेदिता खांडेकर Twitter handle: @nivedita_Him नई दिल्ली, 5 जुलाई:  भोजन का एक अहम हिस्सा होने के साथ-साथ अदरक का औषधीय महत्व भी कम नहीं है। भारतीय शोधकर्ताओं नेअरुणाचल प्रदेश के लोहित और डिबांग घाटी जिले में अदरक की दो नई Read More …

विरूंगा व सालोंग उद्यान में तेल खनन की अनुमति

लोकतांत्रिक गणराज्य कांगो ने 29 जून, 2018 को माउंटेन गुरिल्ला के पर्यावास विरूंगा एवं सालोंगा वन्य जीव अभ्यारण्यों में तेल खनन की अनुमति दे दी है। कांगो सरकार के इस कदम का पर्यावरणविद् विरोध कर रहे हैं। उनके मुताबिक इससे Read More …

वन्यजीव बोर्ड द्वारा चार जीव रिकवरी कार्यक्रम में शामिल

राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड ने स्थायी कमेटी की सिफारिश पर चार जीवों को संकटापन्न प्रजातियों की रिकवरी कार्यक्रम (Recovery Programme for Critically Endangered Species) में शामिल किया है। ये प्रजातियां हैं;   नॉर्थन रिवर टेरापिपपन, क्लाउडेड तेंदुआ, अरेबियन सी हम्पबैक व्हैल एवं Read More …

अंतरिक्ष से भारत का वायुमंडल दिख रहा है अजीब

यूरोपीय संघ के उपग्रह सेंटिनल-5पी (Sentinel-5P satellite) से ली गई तस्वीर में भारत की वायु गुणवत्ता कुछ अलग दिख रही है। सेंटिनल-5 पी को वायु गुणवत्ता पर निगरानी रखने के लिए अक्टूबर 2017 में प्रक्षेपित किया गया था। वैज्ञानिकों के Read More …

150 वर्ष पहले विलुप्त मकड़ी प्रजाति वायनाड में मिली

क्याः क्रिसिला वाल्युप्स किसकीः जम्पिंग स्पाइडर कहांः वायनाड वैज्ञानिकों ने मकड़ी की एक दुर्लभ प्रजाति को पश्चिम घाट स्थित केरल के वायनाड वन्यजीव अभ्यारण्य (Wayanad Wildlife Sanctuary) में खोजा है जिसके बारे में माना जा रहा था कि 150 वर्ष Read More …

eDNA से निलस्सोनिया निग्रिकैन्स की मौजूदगी का चला पता

क्याः लिस्साोनिया निग्रिकैन्स कछुआ कहांः असम नागशंकर तालाब कैसेः eDNA किसी जलीय प्रजाति को पता लगाने में इन दिनों ‘पर्यावरणीय-डीएनए तकनीक (environmental DNA: eDNA) काफी प्रभावी सिद्ध हो रही हे। निलस्सोनिया निग्रिकैन्स या ब्लैक सॉफ्रटशेल कछुआ (Nilssonia nigricans or Black Softshell Read More …

नेशनल बायोडायवर्सिटी डिस्कवरी पुरस्कार

क्याः राष्ट्रीय जैव विविधता खोज पुरस्कार किसेः सिंगचुग बुगुन विलेज कम्युनिटी रिजर्व क्योंः इगलनेस्ट वन्यजीव अभ्यारण्य संरक्षण अरुणाचल प्रदेश के पश्चिमी कामेंग जिला का एक एनजीओ ‘सिंगचुग बुगुन विलेज कम्युनिटी रिजर्व’ (Singchung Bugun Village Community Reserve-SBVCR) को ‘नेशनल बायोडायवर्सिटी डिस्कवरी Read More …

डीएसआई प्रौद्योगिकी उपयोग करने वाला देश का पहला थर्मल संयंत्र

क्याः डीएसआई प्रौद्योगिकी कहांः एनटीपीसी दादरी क्योंः SO2 उत्सर्जन में कमी दादरी स्थित एनटीपीसी के तापीय संयंत्र ने SO2 (sulphur dioxide) उत्सर्जन कम करने के लिए डीएसआई (Dry Sorbent Injection : DSI) प्रौद्योगिकी इस्तेमाल करने की घोषणा की है। एनटीपीसी Read More …

ब्लू फ्लैग प्राप्त करने वाला चंद्रभागा तट (ओडिशा), एशिया का प्रथम तट

क्याः ब्लू फ्लैग प्रमाणन किसेः चंद्रभागा तट कहांः ओडिशा ओडिशा के कोणार्क तट पर स्थित चंद्रभागा तट देश का पहला समुद्र तट (beach) है जिसे ‘ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेशन’ प्राप्त हुआ है। यह प्रमाणपत्र वैसे समुद्री तटों को प्रदान किया जाता Read More …

प्लास्टिक प्रदूषण के खिलाफ जरूरी है एक मुहिम

44वें विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष फीचर नवनीत कुमार गुप्ता नई दिल्ली, 5 जून  : पृथ्वी की संरचना, सूर्य से उसकी दूरी और अन्य भौतिक दशाओं के कारण यहां जीवन का अस्तित्व है। हवा, पानी, मिट्टी और विविध वनस्पतियां प्रकृति Read More …

एन्विथॉन-पर्यावरण दिवस के लिए हाफ मैराथन का आयोजन

क्याः एन्विथॉन कहांः छह शहर कबः 3 जून, 2018 आगामी विश्व पर्यावरण दिवस (5 जून, 2018) के उपलक्ष्य में देश के छह शहरों में ‘एन्विथॉन’ का आयोजन 3 जून, 2018 को किया गया। जिन छह शहरों में एन्विथॉन नामक अर्द्ध-मैराथन Read More …

मेगाशिरेला- छिपकली का प्राचीनतम पूर्वज की खोज

कौनः मेगाशिरेला क्याः छिपकली की प्राचीनतम प्रजााति कहांः इटली नेचर पत्रिका में प्रकाशित शोध आलेख के अनुसार वैज्ञानिकों ने सबसे प्राचीन ज्ञात छिपकली (oldest known lizard) खोजने का दावा किया है। वैज्ञानिकों के अनुसार यह खोजी गयी प्रजाति आज से Read More …

जैव विविधता को नुकसान पहुंचा रही हैं लघु जलविद्युत परियोजनाएं

उमाशंकर मिश्र नई दिल्ली, 1 जून  : लघु जलविद्युत परियोजनाओं को स्वच्छ ऊर्जा का स्रोत माना जाता है। लेकिन, भारतीय वैज्ञानिकों के एक ताजा अध्ययन से पता चला है कि इन परियोजनाओं के कारण पारिस्थितिक तंत्र और जैव विविधता को Read More …

राजस्थान में जनवरी 2012 से 238 तेंदुओं की मौत

भारतीय वन्यजीव सुरक्षा समााज के अनुसार जनवरी 2012 से लेकर 21 मई 2018 तक राजस्थान में 238 तेंदुओं की मौत हो चुकी है। इसी रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान में प्रतिवर्ष 24 तेंदुओं की मौत हो जाती है। 84 की मौत Read More …

मेघालय के गारो हिल्स सेे ‘गज यात्रा’ का शुभारंभ

क्याः गज यात्रा कहांः मेघालय क्योंः 100 गजराज गलियारा सुनिश्चित करना केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रलय तथा भारतीय वन्य जीव ट्रस्ट ने 28 मई, 2018 को मेघालय के गारो हिल्स स्थित तुरा शहर से ‘गज यात्रा’ अभियान आरंभ Read More …

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री द्वारा ‘क्लीन एयर इंडिया पहल’ की शुरूआत

क्याः क्लीन एयर इंडिया पहल किसनेः नीदरलैंड के प्रधानमंत्री श्री मार्क रूट कबः 24 मई, 2018 नीदरलैंड के प्रधानमंत्री श्री मार्क रूट ने अपनी भारत यात्रा के दौरान 24 मई, 2018 को नई दिल्ली में ‘स्वच्छ वायु भारत पहल’ (Clean Read More …

पृथ्वी के बायोमास का 10,000वां हिस्सा है मानव

नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस पर कराए गए पृथ्वी पर जीवन के फुटप्रिंट का पहली बार गणना के अनुसार पृथ्वी पर पौधों एवं मानव का अनुपात 7500ः1 है। विश्व के बायोमास का 10,000वां हिस्सा मानव है। विश्व के बायोमास का 80 Read More …