देश का 351 नदी खंड प्रदूषित-केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आकलन के अनुसार देश में प्रदूषित नदी खंडों की संख्या दो वर्ष पहले के 302 से बढ़कर 351 हो गई है। वहीं गंभीर रूप से प्रदूषित खंडों, जहां पानी की गुणवत्ता सबसे खराब स्थिति में है, की संख्या 34 से बढ़कर 45 हो गई Read More …

काकीनाडा में संकटापन्न पॉण्डिचेरी शार्क की खोज

ईस्ट गोदावरी रिवराइन एश्चुआरिन इकोसिस्टम (East Godavari Riverine Estuarine Ecosystem: EGREE) फाउंडेशन के फील्ड जीव वैज्ञानिकों ने काकीनाडा के निकट में संकटापन्न पॉण्डिचेरी शार्क (Pondicherry shark) को तैरते देखा। इस प्रजाति को आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिला के कुंभाभिषेकम जगह पर देखा गया। यह प्रजाति वन्यजीव संरक्षण एक्ट के Read More …

जलवायु परिवर्तन निगरानी में मददगार हो सकती हैं शैक प्रजातियां

उमाशंकर मिश्र (Twitter handle : @usm_1984) नई दिल्ली, 4 सितंबर : भारतीय वैज्ञानिकों के एक ताजा अध्ययन में अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में पायी जाने वाली 122 शैक प्रजातियों को सूचीबद्ध किया गया है। इनमें से 16 शैवाल प्रजातियों का उपयोग जलवायु परिवर्तन की निगरानी के लिए जैव-संकेतक के Read More …

ब्रो-एंट्लेरेड डीयर के दूसरे घर पर विवाद

ब्रो-एंट्लेरेड डीयर (brow-antlered deer) जो वर्ष 1951 में लगभग विलुप्ति के कगार पर था, आज इनकी संख्या 260 है। अभी भी यह संकटापन्न प्रजाति है। इन्हें डासिंग डीयर, एल्ड्स डीयर और थामिन भी कहा जाता है। अभी यह प्रजाति केवल मणिपुर के विष्णुपुर में (लोकटक झील-केइबुल लामजाओ नेशनल पार्क-Keibul Lamjao) Read More …

पर्यावरण मंत्री ने भारत के राष्‍ट्रीय आरईडीडी+ रणनीति जारी की

जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए केन्‍द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 30 अगस्त, 2018 को राष्‍ट्रीय आरईडीडी+ रणनीति (National REDD+ Strategy India)  जारी किया।  आरईडीडी+ से जुड़ी गतिविधियां स्‍थानीय समुदायों की आजीविका को बनाए रखने में मदद करती हैं Read More …

नॉन एटेनमेंट सिटीज वर्गीकरण

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने देश के 102 शहरों को प्रदूषण के खतरनाक स्तर पर पहुंचने के कारण उन्हें ‘नॉन एटेनमेंट सिटीज’ (non-attainment cities) का दर्जा दिया हुआ है। ये वे शहर है जो पांच वर्षों से अधिक समय से ‘नेशनल एंबिएंट एयर क्वालिटी स्टैंडर्ड’ (National Ambient Air Quality Read More …

ब्लैकहोलः तिब्बत में अपशिष्ट को राख में बदलने वाला उपकरण

लद्दाख पर्यटकों के लिए आकर्षक केंद्र रहा है। परंतु पर्यटक वहां से वापस जाने के साथ ही अपने पीछे विशाल अपशिष्ट भी छोड़ जाते हैं जो न केवल वहां के पर्यावरण के लिए परेशानी का कारण बन जाता है वरन् वहां के लोगों को भी इससे निपटना पड़ता है। उपर्युक्त Read More …

जैव ईंधन चालित भारत का प्रथम वायुयान की उड़ान

27 अगस्त, 2018 को जैव ईंधन के मामले में भारत के लिए ऐतिहासिक दिन के रूप में याद रखा जाएगा। इसी दिन जैव ईंधन चालित देश के प्रथम विमान ने उड़ान भरा। स्पाइस जेट का यह विमान 27 अगस्त, 2018 को देहरादून से उड़ान भरा तथा इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई Read More …

मटर की अधिक पुष्पण वाली प्रजातियां विकसित

डॉ अदिति जैन (Twitter handle:@AditiJain1987) नई दिल्ली, 21 अगस्त : भारतीय भोजन में प्रमुख रूप से शामिल मटर प्रोटीन का एक प्रमुख स्रोत है और दलहन तथा सब्जी के रूप में इसका उपयोग बहुतायत में होता है। भारतीय शोधकर्ताओं ने अब मटर के पौधे में अधिक फूल लगने वाली प्रजाति Read More …

काजीरंगा नेशनल पार्क दो वन्यजीव खंडों में विभाजित

असम स्थित काजीरंगा नेशनल पार्क को दो भागाें में विभाजित किया गया है। इसमें पहले से मौजूद पूर्वी असम वन्यजीव के अलावा एक नया खंड ‘विश्वनाथ वन्यजीव’ का सृजन किया गया है। इन दोनों खंडों को ब्रह्मपुत्र नदी विभाजित करती है। इसका सृजन गहन वन्यजीव प्रबंधन के लिए किया गया Read More …

भारत में पहला पेंग्विन का जन्म

जिस दिन भारत अपना 72वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा था उसी दिन के शाम 8 बजे मुंबई के भायखला जैविक उद्यान (वीरमाता जीजाबाई) में भारत का पहला पेंग्विन का जन्म हुआ। स्वतंत्रता दिवस के दिन जन्म होने के कारण इसे पेंग्विन को ‘द फ्रीडम बेबी’ के नाम से पुकारा जा Read More …

विश्व हाथी दिवस 2018 व गज पुरस्कार 2018

12 अगस्त, 2018 को विश्व हाथी दिवस (World Elephant Day) का आयोजन किया गया। पहला विश्व हाथी दिवस का आयोजन 12 अगस्त, 2012 को किया गया था। इस दिवस की स्थापना फिल्म निर्माता पैट्रिसिया सिम्स एवं एलीफैंट रिइन्ट्रोडक्शन फाउंडेशन थाईलैंड द्वारा की गई थी। इस दिवस का मुख्य उद्देश्य अफ्रीकी Read More …

संकटापन्न प्रजातियों के संरक्षण के लिए भारत का एकमात्र प्रयोगशाला

केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री हर्षवर्धन ने 12 अगस्त, 2018 को हैदराबाद स्थित सीएसआईआर के सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलेक्युलर बायोलॉजी (सीसीएमबी) में देश का एकमात्र संकटापन्न प्रजाति संरक्षण केंद्र (Laboratory for the Conservation of Endangered Species: LaCONES) देश को समर्पित किया। संकटापन्न वन्यजीवों के संरक्षण के Read More …

पर्यावरण, वन, वन्यजीव और सीआरजेड स्वीकृतियों के लिए एकल खिड़की हब ‘परिवेश’ लांच

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 10 अगस्त 2018  को  विश्व जैव ईंधन दिवस के अवसर पर परिवेश: आपसी परामर्श, गुणकारी और पर्यावरण एकल खिड़की के माध्यम से सक्रिय और जवाबदेह सुविधा (PARIVESH: Pro-Active and Responsive facilitation byInteractive, Virtuous and Environmental Single-window Hub) लांच किया। परिवेश एकीकृत पर्यावरण प्रबंधन प्रणाली के लिए एकल खिड़की सुविधा है। प्रधानमंत्री Read More …

गंगा सफाई परियोजनाओं में जीआईएस प्रौद्योगिकी

राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजी) सीवेज शोधन संयंत्र (एसटीपी)/साझा बहिस्राव शोधन संयंत्र (सीईटीपी), जल गुणवत्ता मॉनीटरिंग अवस्थिति, वनरोपण, घाट तथा शवदाहगृह,नदी फ्रंट विकास सहित गंगा नदी बेसिन से संबंधित सभी आंकड़ों के केन्द्रीय भंडार के लिए प्लेटफार्म प्रदान करने के साथ-साथ आयोजन निष्पादन में सुधार तथा परियोजना की निगरानी के Read More …

गोवा के समुद्र तट पर ‘ब्लूबोट्ल’ (पुर्तगीज मैन ऑफ वार) प्रजाति

गोवा के बागा तट (Baga Beach) पर अगस्त 2018 के प्रथम सप्ताह में ‘पुर्तगीज मैन ऑफ वार’ (Portuguese man-of-war), जो कि जेली की तरह की समुद्री प्रजाति है, देखी गई है। इसके पश्चात दृष्टि मरीन नामक गोवा पर्यटन की सुरक्षा एजेंसी ने लोगों को इस तट पर समुद्र में जाने Read More …

1 अगस्त, 2018 को ओवरशूट दिवस का आयोजन

ग्लोबल फूटप्रिंट नेटवर्क ने 1 अगस्त, 2018 को अर्थ ओवरशूट दिवस (Earth Overshoot Day) का आयोजन किया। इस दिवस का आयोजन त्योहार मनाने के लिए नहीं विश्व को आगाह करने के लिए कि इस वर्ष का प्राकृतिक संसाधन 31 दिसंबर के बजाय 1 अगस्त को ही समाप्त हो गया। वर्ष Read More …

कंचनजंगा को यूनेस्को बायोस्फेयर का दर्जा

यूनस्को के मैन एंड बायोस्फेयर रिजर्व (एमएबी) कार्यक्रम की इंडोनेशिया के पालेमबांग में 23-28 जुलाई, 2018 को रही बैठक के दौरान विश्व के 24 नए स्थलों को ‘यूनेस्को के वर्ल्ड बायोस्फेयर रिजर्व नेटवर्क’ में शामिल किया गया जिनमें भारत के सिक्किम स्थित कंचनजंगा स्थित बायोस्फेयर रिजर्व भी शामिल है।  कंचनजंगा Read More …

दक्षिण भारत में मिलीं मशरुम की नई प्रजातियां

शुभ्रता मिश्रा Twitter handle : @shubhrataravi   वास्को-द-गामा (गोवा), 23 जुलाई: फँफूद यानि कवकों का उपयोग विभिन्न व्याधियों एवं रोगों के निदान और मानव भोजन की कमी को पूरा करने में किया जा रहा है। कवक दुनिया के लगभग सभी भागों में जीवित अथवा मृत कार्बनिक पदार्थों पर उगते पाए Read More …

राष्ट्रीय कीट/फतिंगा सप्ताह 2018

विश्व के 40 देशों के सिटिजन साइंटिस्ट 21-29 जुलाई, 2018 को राष्ट्रीय कीट/फतिंगा सप्ताह’ (National Moth Week) मना रहे हैं। इसमें भारत के सिटिजन साइंटिस्ट भी शामिल हैं। यह सप्ताह के आयोजन का मुख्य उद्देश्य नागरिकों को अपने आसपास कीट/फतिंगा को खोजने तथा उसका रिकॉर्ड रखने के लिए जागरूक करना Read More …