भारत में निर्मित रडार ने शुरू की मानसून की निगरानी

कोल्लेगला शर्मा Twitterhandle: @kollegala मैसूर, 6 जुलाई: हिंद महासागर के ऊपर मौसम और मानसूनकी अधिक सटीक निगरानी के लिए भारत में निर्मित रडार ने कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस ऐंड टेक्नोलॉजी में काम करना शुरू कर दिया है। भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा Read More …

आईसीएटी ने प्रथम बीएस-VI इंजन प्रमाण पत्र जारी किया

क्याः प्रथम बीएस-VI प्रमाणन किसनेः अंतर्राष्‍ट्रीय ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी केन्‍द्र क्योंः भारी-भरकम इंजन मॉडल हेतु अंतर्राष्‍ट्रीय ऑटोमोटिव प्रौद्योगिकी केन्‍द्र (आईसीएटी) ने  वोल्‍वो आयशर कमर्शियल व्‍हीकल लिमिटेड के लिए भारी-भरकम इंजन मॉडल हेतु प्रथम बीएस-VI प्रमाणन (BS-VI certification) का कार्य पूरा कर लिया है। इस Read More …

इसरो द्वारा अंतरिक्ष यात्री बचाव प्रणाली (Crew Escape System) का परीक्षण

क्याः यात्री बचाव प्रणाली (Crew Escape System) कबः 5 जुलाई, 2018 कहांः श्री हरिकोटा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(इसरो) ने 5 जुलाई, 2018 को अंतरिक्ष यात्री बचाव प्रणाली (Crew Escape System) की श्रृंखला में योग्य होने के लिए मुख्य प्रौद्योगिकी प्रदर्शन किया। Read More …

डीएनए प्रौद्योगिकी (उपयोग एवं अनुप्रयोग) विनियमन विधेयक-2018

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 4 जुलाई 2018 को डीएनए प्रौद्योगिकी (उपयोग एवं अनुप्रयोग) विनियमन विधेयक-2018 (DNA Technology Use and Application Regulation Bill) को मंजूरी दे दी है। ‘डीएनए प्रौद्योगिकी (उपयोग एवं अनुप्रयोग) विनियमन विधेयक’ को कानून  बनाए जाने के पीछे प्राथमिक उद्देश्य Read More …

किसी नवजात ग्रह की प्रथम प्रमाणित तस्वीर

मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने पहली बार आधिकारिक रूप से किसी नवजात ग्रह की तस्वीर जारी की है। यह नवजात ग्रह है पीडीएस-70बी (PDS-70b) तथा इसका मेजबान तारा है पीडीएस-70। यह ग्रह पृथ्वी से 370 प्रकाश वर्ष दूर है। Read More …

निपा वायरस के लिए फ्रुट बैट जिम्मेदार

भारत चिकित्सा अनुसंधान परिषद् (आईसीएमआर) ने इस बात की पुष्टि की है कि केरल में फैले निपा वायरस (Nipah Virus) के लिए फ्रुट बैट यानी चमगादड़ जिम्मेदार था। ज्ञातव्य है कि निपा वायरस के कारण केरल के कोझिकोड एवं मलाप्पुरम Read More …

इन्सान की आवाज की नकल कैसे कर पाता है तोता

फीचर…. उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 नई दिल्ली, 3 जुलाई  : यह तो सभी जानते हैं कि तोते इन्सानों की भाषा की नकल कर सकते हैं। लेकिन, वे ऐसा कैसे कर पाते हैं इस बात को लेकर वैज्ञानिक हमेशा जानने Read More …

कितने पोषण की जरूरत, बताएगा यह नया ऐप न्यूट्रिफाई इंडिया नाउ

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 क्या: न्यूट्रिफाई इंडिया नाउ ऐप किसने: राष्ट्रीय पोषण संस्थान क्यों: पोषण संबंधी जरूरतों के बारे में लोगों को जागरूक करने में मददगार नई दिल्ली, 2 जुलाई : हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय पोषण संस्थान (एनआईएन) ने न्यूट्रिफाई इंडिया नाउ Read More …

नेविगेशन प्रणाली नाविक के लिए बाधा बन सकते हैं वाई-फाई सिग्नल

दिनेश सी. शर्मा Twitter handle: @dineshcsharma नई दिल्ली, 29 जून :  मोबाइल फोन में उपयोग होने वाले जीपीएस की तर्ज पर भारत में इसरो द्वारा विकसित की गई नेविगेशन प्रणाली (नाविक) से भविष्य में नेविगेशन और पोजिशनिंग सेवाएं उपलब्ध हो Read More …

सेहत के लिए पेट्रोल, डीजल से अधिक सुरक्षित सीएनजी

उमाशंकर मिश्र Twitter : @usm_1984 नई दिल्ली, 25 जून  : प्रदूषण नियंत्रण के लिए वाहनों में कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस (सीएनजी) के बढ़ते उपयोग के साथ-साथ इससे जुड़े दुष्प्रभावों को लेकर भी सवाल उठते रहे हैं। अब भारतीय शोधकर्ताओं के एक Read More …

बाढ़ पूर्वानुमान हेतु केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) व गूगल के मध्य सहयोग समझौता

क्या: केंद्रीय जल आयोग-गूगल  सहयोग समझौता कब: 18 जून, 2018 किसलिए: बाढ़ का पूर्वानुमान जल संसाधन के क्षेत्र में   केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) ने गूगल के साथ एक सहयोग समझौता किया है। सीडब्ल्यूसी जल संसाधनों के कारगर प्रबंधन विशेषकर बाढ़ का पूर्वानुमान लगाने Read More …

विश्व स्वास्थ्य स्वास्थ्य संगठन द्वारा पहली बार फ्लूक्वाड्री इन्फ्लूएंजा टीका को मंजूरी

क्याः फ्लूक्वाड्री किसलिएः इन्फ्लूएंजा टीका किसनेः सनोफी सनोफी पास्त्युर ने फ्लूक्वाड्री नाम से इन्फ्लूएंजा का ऐसी टीका विकसित किया है जिसमें दो ए वारयस स्ट्रेन -H1N1 and H3N2, एवं दो बी वायरस स्ट्रेन-विक्टोरिया एवं यामागाता (Victoria and Yamagata) है। ड्रग Read More …

नासा की रिकॉर्डधारी अंतरिक्षयात्री पैगी व्हिटसन

कौनः पैगी व्हिटसन क्याः सेवानिवृत्ति कहांः अमेरिकी अंतरिक्षयात्री अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की रिकॉर्डधारी महिला अंतरिक्षयात्री, 58 वर्षीय पैगी व्हिटसन 15 जून, 2018 को सेवानिवृत हो गईं। किसी अमेरिकी की तुलना में अंतरिक्ष में वह सर्वाधिक 665 दिन व्यतीत की Read More …

सोशल एटॉप्सी की मदद से कम हो सकती हैं असामयिक मौतें

शुभ्रता मिश्रा Twiter handle : @shubhrataravi   वास्को-द-गामा (गोवा), 15 जून, :कई बार बेहतर चिकित्सकीय सुविधाओं के बावजूद लोग असमय मौतों का शिकार बन जाते हैं। भारतीय शोधकर्ताओं के एक ताजा अध्ययन में इस तरह की असमय मौतों के लिए Read More …

बैक्टिरया के हमले से सुरक्षित सांबा मसूरी की नई प्रजाति विकसित

कोल्लेगला शर्मा Twitter handle: @kollegala मैसूर, 14 जून  : हैदराबाद स्थित भारतीय चावल अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने संशोधित सांबा मसूरी चावल की नई रोग प्रतिरोधी प्रजाति विकसित की है, जो बैक्टिरिया से होने वाली ब्लाइट बीमारी के प्रति अधिक Read More …

प्लास्टिक कचरे से उपयोगी उत्पाद बनाने की नई तकनीक

सुंदरराजन पद्मनाभन Twitter handle: @ndpsr नई दिल्ली, 14 जून  : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान(आईआईटी), रुड़की के शोधकर्ताओं ने एक ऐसी तकनीक विकसित की है, जिसका उपयोगआम लोग भी प्लास्टिक कचरे से ईंट तथा टाइल जैसे उपयोगी उत्पाद बनाने में कर सकते Read More …

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में आपातकालीन प्रसूति सेवाओं का अभाव 

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 नई दिल्ली, 13 जून   : जननी सुरक्षा जैसी योजनाओं के चलते भारत में संस्थागत प्रसव का दायरा बढ़ा है। लेकिन, प्रसव से जुड़े गंभीर मामलों से निपटने के लिए प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों Read More …

सैनेटरी पैड के सुरक्षित निपटारे के लिए नया उपकरण

उमाशंकर मिश्र Twitter handle : @usm_1984 नई दिल्ली, 11 जून : भारतीय शोधकर्ताओं ने ग्रीनडिस्पो नामक एक ऐसी पर्यावरण हितैषी भट्टी का निर्माण किया है, जो सैनिटरी नैपकिन और इसके जैसे अन्य अपशिष्टों के निपटारे में मददगार हो सकती है।  Read More …

भारत की पहली लिथियम आयन (ली-आयन) बैटरी परियोजना

क्या: देश में ही लिथियम आयनबैटरी निर्माण कौन: CECRI & RAASI किसलिए: आयात पर निर्भरता कम करना भारत जल्द ही देश में लिथियम आयन (ली-आयन) बैटरी बनाना शुरू कर देगा। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के तहत सेंट्रल इलेक्ट्रो Read More …

सामाजिक समस्याओं को हल करने में अहम है विज्ञान का योगदान

  उमाशंकर मिश्र नई दिल्ली, 7 जून:  देश की राष्ट्रीय जरूरतों, प्राथमिकताओं और सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न राष्ट्रीय मिशनों को सफल बनाने के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय अपना योगदान निरंतर दे रहा है। जैव प्रौद्योगिकी विभाग, डीएसआईआर, Read More …