फ़्यूचर ऑफ जॉब्स रिपोर्ट-वर्ष 2025 तक 52 प्रतिशत कार्य मशीन द्वारा

विश्व आर्थिक मंच द्वारा 17 सितंबर, 2018 को जारी ‘फ़्यूचर ऑफ जॉब्स रिपोर्ट’ जारी की गई। इस रिपोर्ट के अनुसार अगले सात वर्षों के भीतर यानी वर्ष 2025 तक 12 प्रमुख उद्योग क्षेत्रक में कार्यस्थल कार्य घंटों में मशीन मानव का स्थान ले लेगा। वैश्विक स्तर पर लगभग 50 फीसद Read More …

अधिक उत्पादकता वाले फसल क्षेत्रों की पहचान के लिए नई पद्धति

उमाशंकर मिश्र (Twitter handle : @usm_1984) नई दिल्ली, 18 सितंबर   : अक्सर कई क्षेत्रों में कम उत्पादकता के बावजूद किसान उस क्षेत्र में प्रचलित फसलों की खेती अधिक मात्रा में करते हैं। ऐसे क्षेत्रों में जैव-भौतिकी कृषि विशेषताएं संबंधित फसल के अनुकूल नहीं होने से उत्पादकता कम होती है। भारतीय Read More …

वायु प्रदूषण से भी बढ़ रहा है मधुमेह

फीचर रघु मुर्तुगुड्डे मुंबई, 18 सितंबर  : मानव स्वास्थ्य पर वायु प्रदूषण के दुष्प्रभावों संबंधी रिपोर्टेंसमय-समय पर सामने आती रहती हैं। आंकड़े दर्शाते हैं कि भारत में होने वाली कुल मौतों में से लगभग एक चौथाई वायु प्रदूषण के कारण होती हैं। प्रदूषित हवा में मौजूद2.5माइक्रोन से कम आकार के Read More …

पीएसएलवी-सी42 से दो ब्रिटिश उपग्रह प्रक्षेपित

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने 16 सितंबर, 2018 को रात्रि 10:08 पर श्रीहरिकोटा स्थित सतीष धवन अंतरिक्ष केंद्र से पीएसएलवी-सी42 (PSLV-C42) का प्रक्षेपण किया। इस मिशन में कोर एलोन (पीएसएलवी-सीए) का उपयोग किया गया जो कि कन्फिग्रेशन है। यह पीएसएलवी की 44वीं उड़ान थी वहीं पीएसएलवी के कोर Read More …

नासा द्वारा अत्याधुनिक अंतरिक्ष लेजर उपग्रह ‘आईससैट-2’ का प्रक्षेपण

अमेरिकी अंतरिक्ष नासा ने 15 सितंबर, 2018 को कैलिफोर्निया के वांडेनबर्ग एयरफोर्स स्टेशन से सर्वाधिक अत्याधुनिक अंतरिक्ष लेजर उपग्रह ‘आईससैट-2’ (ICESat-2: Ice, Cloud and land Elevation Satellite-2) का प्रक्षेपण किया। एक अरब डॉलर के इस मिशन को डेल्टा-2 रॉकेट से प्रक्षेपित किया गया। इस मिशन का प्रमुख उद्देश्य पूरे विश्व Read More …

ग्लोबल बर्डेन ऑफ डिजीज रिपोर्ट 2016

हाल में ‘रोगों का वैश्विक बोझ’ (India State-level Disease Burden Initiative) 2016 रिपोर्ट जारी की गई। यह रिपोर्ट आईसीएमआर, पीएचएफआई, आईएचएमआई तथा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रलय द्वारा संयुक्त रूप से 1990 से 2016 के बीच कराए गए अध्ययन पर आधारित है। इस रिपोर्ट की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं: अल्प विकसित देशों Read More …

हर राज्य में तेजी से बढ़ रहा है हृदय रोग

दिनेश सी शर्मा (Twitter handle: @dineshcsharma) नई दिल्ली, 12 सितंबर  : भारत में पिछले 25 वर्षों में हृदय रोग, पक्षाघात, मधुमेह और कैंसर जैसी बीमारियां बहुत तेजी से बढ़ी हैं। प्रतिष्ठित जर्नलद लेंसेट और इससे सम्बद्धजर्नलों में बुधवार को प्रकाशित हुए नए अध्ययनों से यह बात सामने आई है। भारत Read More …

ट्रॉम्बे में अप्सरा – यू रिएक्टर का परिचालन प्रारंभ

अप्सरा के अस्तित्व में आने के लगभग 62 सालों के पश्चात 10 सितंबर 2018 को 18:41 बजे ट्रॉम्बे में स्विमिंग पूल के आकार का एक शोध रिएक्टर “अप्सरा-उन्नत” (Apsara-upgraded) का परिचालन प्रारंभ हुआ। उच्च क्षमता वाले इस रिएक्टर की स्थापना स्वदेशी तकनीक से की गई है। इसमें निम्न परिष्कृत यूरेनियम Read More …

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर प्रोटोकॉल-डीएनए विश्लेषण की नई तकनीक

अमेरिका में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के 9/11 आतंकवादी हमले में मारे गए लोगों की पहचान के लिए वैज्ञानिकों ने डीएनए विश्लेषण तकनीक अपनाया है। इस तकनीक को ‘वर्ल्ड ट्रेड सेंटर प्रोटोकॉल’ (World Trade Center Protocol) नाम दिया गया है। ज्ञातव्य है न्यूयार्क स्थित वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के दोहरे टॉवर पर Read More …

जनजातियों में बढ़ रहे हैं जीवन शैली से जुड़े रोग

दिनेश सी. शर्मा (Twitter handle: @dineshcsharma) नई दिल्ली, 7 सितंबर  : अभी तक समझा जाता था कि जनजातीय इलाकों में रहने वाले लोग सिर्फ मलेरिया जैसे संचारी रोगों और कुपोषण से ही जूझ रहे हैं। पर, एक ताजा रिपोर्ट में पता चला है कि उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और मधुमेह Read More …

कोल्हापुर के गांव में मिले दुर्लभ बेसाल्ट स्तंभ

डॉ रवि मिश्रा (Twitter handle: @Ravimishra1970) वास्को द गामा (गोवा), 6 सितंबर : भारत में स्थित दक्कन ट्रैप को दुनियाभर में इसकी ज्वालामुखीय विशेषताओं के लिए जाना जाता है। इसी क्षेत्र में अब भारतीय वैज्ञानिकों ने पूर्ण रूप से विकसित एक दुर्लभ बेसाल्ट स्तंभ संरचना का पता लगाया है। बेसाल्ट Read More …

फसलों के लिए खतरा बन रहा है नया प्रवासी कीट

कोल्लेगला शर्मा (Twitter handle: @kollegala) मैसूर, 4 सितंबर :  कर्नाटक में विदेश से आये हुए एक नये कीट का पता चला है जो सभी तरह की फसलों को भारी नुकसान पहुंचा सकता है। यह कीट राज्य के कई हिस्सों में मक्का के पौधों को नुकसान पहुंचा रहा है। बंगलुरु स्थित Read More …

वैज्ञानिकों ने चींटियों के संयुक्त नेत्रों की संरचनात्मक विशेषताओं का पता लगाया

शुभ्रता मिश्रा (Twitter handle : @shubhrataravi) वास्को-द-गामा (गोवा), 31 अगस्त: चींटियों में देखने की अद्भुत क्षमता होती है। भारतीय वैज्ञानिकों ने एक ताजा अध्ययन में चींटियों के दृश्य संवेदी गुणों को समझने के लिए उनके संयुक्त नेत्रों की संरचनात्मक विशेषताओं का पता लगाया है। कोट्टयम, केरलके सेंट बर्चमेंस कॉलेज के Read More …

प्रधानमंत्री विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार सलाहकार परिषद् (PM-STIAC) का गठन

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री एवं कैबिनेट के दो वैज्ञानिक सलाहकार समितियों को भंग कर दिया है। इसकी जगह ‘प्रधानमंत्री विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार सलाहकार परिषद्’ (Prime Minister’s Science, Technology and Innovation Advisory Council: PM-STIAC) का गठन किया गया है। इस परिषद् के नौ सदस्य होंगे। ये नौ सदस्य अग्रलिखित हैंः Read More …

पृथ्‍वी विज्ञान मंत्रालय की व्‍यापक योजना ‘ओ-स्‍मार्ट’ को मंजूरी

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने 29 अगस्त 2018 को व्‍यापक योजना ‘महासागरीय सेवाओं, प्रौद्योगिकी, निगरानी, संसाधन प्रतिरूपण और विज्ञान: ओ-स्‍मार्ट (Ocean Services, Technology, Observations, Resources Modelling and Science: O-SMART)’ को  मंजूरी  दी । 1623 करोड़ रुपये की कुल लागत की यह योजना 2017-18 से 2019-20 की अवधि के दौरान Read More …

गगनयान-भारत का पहला मानव अंतरिक्ष कार्यक्रम

केंद्रीय अंतरिक्ष राज्य मंत्री श्री जीतेंद्र सिंह तथा इसरो के अध्यक्ष श्री के- शिवन ने 28 अगस्त, 2018 को भारत के प्रथम मानव अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान’ कार्यक्रम को उद्घाटित किया। अपने स्‍वतंत्रता दिवस के भाषण के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा की गई घोषणा के अनुसार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान Read More …

गगनयान-अंतरिक्ष में भारत का पहला मानव मिशन

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2018 को भारत के 72वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले के प्राचीर से अंतरिक्ष में भारत के प्रथम मिशन ‘गगनयान’ की घोषणा की। प्रधानमंत्री के अनुसार गगनयान को वर्ष 2022 में भारत के स्वतंत्र होने के 75वें वर्ष प्रक्षेपित किया जाएगा। Read More …

मछलीपट्टनम 150 वर्ष पहले कैसे बना अग्रणी वैज्ञानिक खोज का गवाह

डॉ बिमान नाथ बंगलुरू, 16 अगस्त  : मछलीपट्टनम आंध्र प्रदेश के तट पर स्थित सबसे पुराने बंदरगाहों में से एक है। बहुत कम लोगों को पता होगा कि 150 साल पहले मछलीपट्टनम एक ऐतिहासिक वैज्ञानिक खोज कागवाह बना था, जिससे विज्ञान की खगोल भौतिकी नामक एक नई शाखा की शुरुआत Read More …

नासा द्वारा पार्कर सोलर प्रोब मिशन का प्रक्षेपण

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ 12 अगस्त, 2018 को ‘पार्कर सोलर प्रोब’ (Parker Solar Probe) मिशन को प्रक्षेपित किया। यह मिशन सूर्य के कोरोना में पहुंचने से पूर्व शुक्र ग्रह का चक्कर लगाएगा। यह मिशन नासा के ‘लिविंग विद स्टार कार्यक्रम’ (Living with a Star program) का हिस्सा है जिसका उद्देश्य सूर्य-पृथ्वी Read More …

‘विक्रम’ होगा भारत के द्वितीय चंद्र मिशन के लैंडर का नाम

महान वैज्ञानिक तथा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ‘इसरो’ के प्रथम अध्यक्ष डॉ. विक्रम साराभाई के 99वें जन्म वर्ष के अवसर पर भारत के दूसरे चंद्र मिशन, जो कि भारत का प्रथम मून लैंडिंग मिशन है, के लैंडर को ‘विक्रम’ नाम दिया गया है। इसे वर्ष 2019 में प्रक्षेपित किया जाएगा। Read More …