338 श्रमिक प्रधानमंत्री श्रम पुरस्‍कार से सम्‍मानित

  • उपराष्‍ट्रपति श्री एम.वैंकेया नायडू ने 26 फरवरी को केंद्रीय श्रम और रोजगार राज्‍यमंत्री श्री संतोष कुमार गंगवार की उपस्‍थित में 338 श्रमिकों को प्रधानमंत्री श्रम पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया।
  • उपराष्‍ट्रपति ने वर्ष 2011, 2012, 2013, 2014, 2015 और 2016 के लिए 194 प्रतिष्‍ठित पुरस्‍कार  एक समारोह में प्रदान किए गए।
  • पुरस्‍कार विजेताओं में केंद्र और राज्‍य सरकारों के कम से कम 500 श्रमिकों वाले सार्वजनिक उपक्रम और निजि इकाइयों में काम करने वाले श्रमिक शामिल थे।
  • ये पुरस्‍कार अपनी ड्यूटी के प्रति पूरी निष्‍ठा रखने वाले तथा उत्‍पादकता, सुरक्षा, गुणवत्‍ता, नवाचार क्षमता और संसाधनों के संरक्षण के प्रति उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन करने तथा प्रत्‍युन्‍मति और असाधारण साहस का परिचय देने वाले श्रमिकों को दिए गए।
  • पुरस्‍कार उन श्रमिकों को भी दिए गए जिन्‍होंने अपने जिम्‍मेदारियों का निर्वहन करते हुए अपने जान को जोखिम में डाला या फिर अपने प्राणों की आहूति देकर सर्वोच्‍च बलिदान दिया।
  • दिए गए श्रम पुरस्‍कारों में से 232 पुरस्‍कार सार्वजनिक क्षेत्र में काम करने वाले और 106 पुरस्‍कार निजी क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को दिए गए। इनमें से कुछ पुरस्‍कार श्रमिक समूहों ने संयुक्‍त रूप से प्राप्‍त किए।
  • कुल 338 पुरस्‍कार विजेताओं में से 20 महिलाएं है। दो श्रमिकों को ये पुरस्‍कार मरणोपरांत दिया गया है।
  • प्रधानमंत्री श्रम रत्न पुरस्कारः टाटा स्टील लिमिटेड के श्री सुब्रत कुमार को वर्ष 2012 में किये गये उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रधानमंत्री श्रम रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • श्रम भूषण पुरस्कारः वर्ष 2011 से 2016 के लिए 46 कर्मकारों को श्रम भूषण से सम्मानित किया गया जिनमें पांच महिला कर्मी भी शामिल हैं।
  • श्रम वीर/वीरांगना पुरस्कारः वर्ष 2011 से 2016 के लिए 129 कर्मकारों को श्रम वीर/वीरांगना पुरस्कार से सम्मानित किया गया जिनमें चार महिला कर्मी भी शामिल हैं।
  • श्रम श्री/श्रम देवी पुरस्कारः वर्ष 2011 से 2016 के लिए 162 कर्मकारों को श्रम श्री/श्रम देवी पुरस्कार से सम्मानित किया गया जिनमें 11 महिला कर्मी भी शामिल हैं।

क्या होता है प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार?

  •  यह केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रलय द्वारा प्रदान किया जाता है।
  •  श्रम पुरस्कार विभागीय उपक्रमों, केंद्र और राज्य सरकारों के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों तथा निजी क्षेत्र की इकाइयों में कार्यरत 50 श्रमिकों को प्रदान किए जाते हैं।
  •  इस पुरस्कार के लिए उन्हीं उपक्रमों के श्रमिकों का चयन किया जाता है जहां 500 से अधिक श्रमिक नियोजित हों।
  •  प्रधानमंत्री श्रम पुरस्कार चार श्रेणियों में प्रदान किए जाते हैं। ये श्रेणियां हैं;
    1. श्रम रत्न पुरस्कारः 2,00,000 की नकद राशि व एक सनद
    2. श्रम भूषण पुरस्कारः 1,00,000 की नकद राशि व एक सनद
    3. श्रम वीर/श्रम वीरांगना पुरस्कारः 60,000 की नकद राशि व एक सनद
    4. श्रम श्री/श्रमदेवी पुरस्कारः 40,000 रुपये नकद और एक सनद

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *