बोलीदाता सूचना प्रबंधन प्रणाली (BIMS) और भूमि राशि तथा पीएफएमएस (PFMS) संपर्क पोर्टल का शुभारंभ

केन्‍द्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने 6 अगस्त, 2018  को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की ओर से प्रौद्योगिकी पहल के रूप में बोलीदाता सूचना प्रबंधन प्रणाली और भूमि राशि तथा पीएफएमएस संपर्क पोर्टल का शुभारंभ किया। इस पोर्टल का उद्देश्‍य निर्माण पूर्व गतिविधियों से संबंधित बोली प्रक्रिया और भूमि अधिग्रहण के कार्यों में तेजी लाना है।    

बीआईएमएस

  • बीआईएमएस (Bidder Information Management System: BIMS) का उद्देश्‍य राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं से जुड़ी अनुबंध प्रक्रियाओं (EPC Mode of contracts for National Highway) को बोलीदाताओं के लिए ज्‍यादा पारदर्शी और व्‍यवस्थित बनाना है। पोर्टल के जरिए बोलीदाताओं से जुड़ी सभी जानकारी मिल सकेगी। बोलीदाताओं को यह सुनिश्चित करना होगा कि‍ वह पोर्टल में अपने कार्यानुभव, वार्षिक कारोबार की वित्‍तीय जानकारी आदि से संबंधित सभी जानकारी सही तरीके से दें क्‍योंकि इन जानकारियों के आधार पर ही उन्‍हें परियोजनाओं से जुड़े काम दिए जाएंगे। 

भूमि राशि

  • भूमि राशि पोर्टल सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय तथा राष्‍ट्रीय सूचना केंद्र द्वारा मिलकर तैयार किया गया है। इस पोर्टल में देश के सभी 6.4 लाख गांवों की भूमि का राजस्‍व आंकड़ा दिया गया है। इससे भूमि परियोजनाओं के लिए भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया आसान हो सकेगी।

पीएफएमएस

  • भूमि राशि पोर्टल के साथ लोक वित्‍त प्रबंधन प्रणाली – (पीएफएमएस-Public Financial Management System: PFMS) को जोड़े जाने से भूमि अधिग्रहण के दौरान अदा की जाने वाली मुआवजा राशि का भुगतान लाभार्थियों को आसानी से सीधे किया जा सकेगा। 
  • पीएफएमएस एक वेब आधारित ऑनलाइन सॉफ्रटवेयर अनुप्रयोग है जिसका विकास व क्रियान्वयन भारत के महानियंत्रक लेखा कार्यालय द्वारा किया जा रहा है। यह भारत सरकार के लिए मजबूत सार्वजनिक वित्त प्रबंधन प्रणाली की सुविधाा प्रदान करता है।
  • श्री गडकरी पोर्टल शुभारंभ करने के अवसर पर उम्‍मीद जताई कि उनके मंत्रालय की ओर से की गई इस प्रौद्योगिकी पहल से राजमार्ग परियोजनाओं के लिए दिए जाने वाले ठेकों और उनके निर्माण कार्यों में तेजी आएगी।
  • उन्‍होंने कहा कि भूमि राशि पोर्टल के जरिए इस वर्ष अब तक भूमि अधिग्रहण की 900 अधि‍सूचनाएं जारी की जा चुकी हैं, जबकि बीते वर्ष पूरे साल में 1000 अधिसूचनाएं ही जारी की जा सकी थी।

राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार

  • श्री गडकरी ने राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं में उत्‍कृष्‍टता के लिए इस साल से राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार दिए जाने की भी घोषणा की। ये पुरस्‍कार उन ठेकेदारों को दिए जाएंगे जिनका प्रदर्शन परियोजना कार्यों में उत्‍कृट होगा।
  • पुरस्‍कारों के लिए चयन की प्रक्रिया सख्‍त रखी गई है। कई दौर के आकलन के बाद ही पुरस्‍कार के लिए किसी का चयन किया जाएगा।  

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *