वर्ष 2017-18 में फलों एवं सब्जियों का अनुमानित उत्‍पादन

कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग ने बागवानी फसलों के अनुमानित क्षेत्र उत्पादन के बारे में 2017-18 अंतिम और 2018-19 का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया है। देश के विभिन्‍न राज्‍यों एवं केन्‍द्रशासित प्रदेशों से मिले विवरण पर ये अनुमान आधारित हैं।

वर्ष 2017-18 (अंतिम)

  • वर्ष 2017-18 (अंतिम) के दौरान 311.7 मिलियन टन बागवानी फसलों के उत्‍पादन के साथ इसका अभूतपूर्व उत्‍पादन हुआ। यह पिछले वर्ष की तुलना में 3.7 प्रतिशत अधिक है और पिछले 5 वर्ष के औसत उत्‍पादन की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक है।
  • फलों का अनुमानित उत्‍पादन 97.35 मिलियन टन है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 4.8 प्रतिशत अधिक है।
  • सब्जियों का अनुमानित उत्‍पादन लगभग 187.5 मिलियन टन है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 3.5 प्रतिशत अधिक है।
  • 2017-18 में प्‍याज का अनुमानित उत्‍पादन 23.26 मिलियन टन हुआ, जो 2016-17 के दौरान 22.4 मिलियन टन की तुलना में 3.7 प्रतिशत अधिक है।
  • वर्ष 2017-18 (अंतिम) में आलू का अनुमानित उत्‍पादन 51.3 मिलियन टन है, जो 2016-17 के दौरान 48.6 मिलियन टन के उत्‍पादन की तुलना में 5.6 प्रतिशत अधिक है।

2018-19 (प्रथम अग्रिम अनुमान) की विशेषताएं  

  • 2018-19 (प्रथम अग्रिम अनुमान) के दौरान देश में कुल बागवानी फसलों का अनुमानित उत्‍पादन 314.5 मिलियन टन है, जो 2017-18 की तुलना में 0.95 प्रतिशत अधिक है तथा पिछले 5 वर्ष के उत्‍पादन की तुलना में 8 प्रतिशत अधिक है।
  • मौजूदा वर्ष में लगभग 23.62 मिलियन टन प्‍याज के उत्‍पादन का अनुमान है, जो 2017-18 के दौरान 23.26 मिलियन टन उत्‍पादन की तुलना में 1.5 प्रतिशत अधिक है।
  • मौजूदा वर्ष में 52.58 मिलियन टन आलू के उत्‍पादन का अनुमान है, जो 2017-18 के दौरान 51.31 मिलियन टन के उत्‍पादन की तुलना में 6 प्रतिशत अधिक है।
  • मौजूदा वर्ष में लगभग 20.51 मिलियन टन टमाटर के उत्‍पादन का अनुमान है, जो 2017-18 के दौरान 19.76 मिलियन टन के उत्‍पादन की तुलना में 2 प्रतिशत अधिक है।

 

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *