10वां ब्रिक्स सम्मेलन जोहांसबर्ग

विश्व के पांच उदीयमान अर्थव्यवस्थाओं का सहयोगी मंच ‘ब्रिक्स’ (BRICS) के राष्ट्राध्याक्षों/शासनाध्यक्षों को 10वां वार्षिक सम्मेलन दक्षिण अफ्रीका के जोहांसबर्ग में 25-27 जुलाई, 2018 को आयोजित हुआ।

  • इस सम्मेलन की अध्यक्षता दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति साइरिल रामाफोसा ने की।
  • 10वें ब्रिक्स सम्मेलन की थीम थी, ‘अफ्रीका में ब्रिक्सः चौथी औद्योगिक क्रांति में समावेशी विकास एवं साझी समृद्धि के लिए सहयोग’ (BRICS in Africa: Collaboration for Inclusive Growth and Shared Prosperity in the 4th Industrial Revolution)
  • इस सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व श्री नरेंद्र मोदी ने किया जो इससे पूर्व अफ्रीका के दो देशों रवांडा एवं यूगांडा की यात्रा कर दक्षिण अफ्रीका पहुंचे थे।
  • सम्मेलन के दौरान ब्रिक्स अफ्रीका आउटरीच व उदीयमान अर्थव्यवस्थाओं के साथ ब्रिक्स प्लस कोऑपरेशन का आयोजन किया गया।
  • सम्मेलन की समाप्ति पर जोहांसबर्ग घोषणापत्र जारी किया गया जिसमें लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर विशेष रूप से बल दिया गया। घोषणापत्र में भारत द्वारा वर्ष 2016 में ब्रिक्स एग्रीकल्चर रिसर्च प्लेटफॉर्म (एआरपी) आरंभ करने की प्रशंसा की गई। आतंकवाद के सभी रूपों की निंदा की गई। इस संदर्भ में अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अंतरराष्ट्रीय काउंटर टेररिज्म कोएलिशन की स्थापना का भी आह्वान किया गया। सूचना व संचार प्रौद्योगिकी के उपयोग में सरकारों द्वारा जवाबदेही हेतु संयुक्त राष्ट्र के नियमों व सिद्धांतों के पालन का भी आह्वान कियाा गया। 

क्या है ब्रिक्स?

  • ब्रिक्स विश्व की पांच उदीयमान अर्थव्यवस्थाओं ब्राजील, रूस, भारत, चीन एवं दक्षिण अफ्रीका का सहयोगी है और इस संगठन का नामकरण भी इन देशों के नाम के प्रथम अक्षर के आधार पर भी हुआ है।
  • ब्रिक्स अवधारणा ब्रिटिश अर्थशास्त्री जिम ओ नील की देन है।
  • दक्षिण अफ्रीका वर्ष 2010 में इस मंच का सदस्य बना और वर्ष 2011 में सान्या, चीन में आयोजित तीसरे सम्मेलन के दौरान इसने इसके नए सदस्य के रूप में इसमें भाग लिया।
  • ब्रिक्स देशों के सहयोग तीन स्तरों पर होता हैः
    1- राष्ट्रीय सरकारों के बीच औपचारिक कूटनीतिक संपर्क
    2- सरकारी संस्थानों के बीच संपर्क
    3- सिविल सोसायटी व लोगों के बीच संपर्क।
  • पहला ब्रिक्स सम्मेलन वर्ष 2009 में रूस के येकातेरिनबर्ग में हुआ था।
  • वैश्विक आबादी में ब्रिक्स का योगदानः 41.1 प्रतिशत (चीन-18.5 प्रतिशत, भारतः 17.1 प्रतिशत, ब्राजील-2.8 प्रतिशत, रूसः 2.0 प्रतिशत व दक्षिण अफ्रीकाः 0.8 प्रतिशत)
  • वैश्विक क्षेत्रफल में ब्रिक्स का योगदानः 29.6 प्रतिशत (चीन-7.1 प्रतिशत, भारतः 2.4 प्रतिशत, ब्राजील-6.3 प्रतिशत, रूसः 12.7 प्रतिशत व दक्षिण अफ्रीकाः 0.9 प्रतिशत)

ब्रिक्स के अब तक के सम्मेलन

  • प्रथम         जून 2009            येकातेरिनबर्ग, रूस
  • दूसरा         अप्रैल 2010         ब्रासिलिया, ब्राजील
  • तीसरा       अप्रैल 2011          सान्या, चीन
  • चौथा         मार्च 2012            नई दिल्ली, भारत
  • पांचवां       मार्च 2013           डरबन, द. अफ्रीका
  • छठा          जुलाई 2014        फॉर्टोलेजा, ब्राजील
  • सातवां      जुलाई 2015         ऊफा, रूस
  • आठवां      अक्टूबर 2016       गोवा, भारत
  • नौवां         सितंबर 2017        जियामेन, चीन
  • दसवां       जुलाई 2018          जोहांसबर्ग, द. अफ्रीका
  • ग्यारहवां      2019                 ब्राजील

Written by 

2 thoughts on “10वां ब्रिक्स सम्मेलन जोहांसबर्ग”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *