भारत तीन साल के लिए संयुक्त राष्ट्र मानव अधिकार परिषद् का सदस्य निर्वाचित

  • भारत 12 अक्टूबर, 2018 को  1 जनवरी, 2019 से तीन साल की अवधि के लिए संयुक्त राष्ट्र मानव अधिकार परिषद् का सदस्य चुना गया। एशिया-प्रशांत श्रेणी में भारत को 188 वोट प्राप्त हुए, जो की सभी प्रतिस्पर्धियों में सबसे ज्यादा वोट मिले।
  • 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र महासभा ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के नए सदस्यों के लिए चुनाव आयोजित किए।
  • 18 नए सदस्यों को एक गुप्त मतपत्र के माध्यम से पूर्ण बहुमत द्वारा निर्वाचित किया गया।
  • संयुक्त राष्ट्र मानव अधिकार परिषद् का सदस्य चुने जाने के लिए किसी देश को कम से कम 97 वोट चाहिए।
  • एशिया प्रशांत श्रेणी में, भारत को 188 वोट मिले, इसके बाद फिजी को 187 वोट, बांग्लादेश को 178, बहरीन और फिलीपींस को 165-165 वोट मिले ।
  • भारत को 2011-2014 और 2014-2017 के लिए जिनेवा स्थित मानवाधिकार परिषद के लिए चुना गया था।
  • 47 सदस्यीय मानवाधिकार परिषद् संयुक्त राष्ट्र के अधीन एक अंतर-सरकारी निकाय है जिसका उद्देश्य पूरे विश्व में मानवाधिकार के संवर्द्धन व सुरक्षा को मजबूती प्रदान करना है।
  • इसकी स्थापना 15 मार्च, 2006 को हुई थी।

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *