मेघालय में पहली ‘स्वदेश दर्शन’ परियोजना ‘उमियम (झील दृश्य)’ का उद्घाटन

  • मेघालय के मुख्यमंत्री श्री कॉनराड के. संगमा  ने पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार की ‘स्वदेश दर्शन’ योजना के तहत लागू “पूर्वोत्तर सर्किट का विकास: उमियम (झील दृश्य) – यू लुम सोहपेटबिनेंग- माउदिआंगडियांग – आर्किड लेक रिज़ॉर्ट” परियोजना का उद्घाटन 9 जनवरी, 2019 को किया।  
  • पर्यटन मंत्रालय ने जुलाई, 2016 में 99.13 करोड़ रुपये की लागत वाली इस   “पूर्वोत्तर सर्किट का विकास: उमियम (झील दृश्य) – यू लुम सोहपेटबिनेंग- माउदिआंगडियांग – आर्किड लेक रिज़ॉर्ट” परियोजना को मंजूरी दी थी। इस परियोजना के तहत मंत्रालय ने  पारंपरिक हीलिंग केंद्र, जनजातीय कायाकल्प केंद्र, पर्यटक सूचना केंद्र, बहुउद्देशीय हॉल, लॉग हट्स, कैफेटेरिया, साउंड एंड लाइट शो, स्मारिका दुकानें, वाटर स्पोर्ट्स जोन, जिप लाइन, कैनोपी वॉक, ट्रेकिंग रूट, साइकिलिंग ट्रैक, अंतिम मील तक जुड़ाव, कारवां पार्किंग, सार्वजनिक शौचालय, और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन जैसी सुविधाएं विकसित की हैं।
  •  पिछले कुछ वर्षों के दौरान इस क्षेत्र में विदेशी पर्यटकों के आगमन में भी बढ़ोतरी हुई है। इस क्षेत्र में 2017 के दौरान कुल 1.69 लाख विदेशी पर्यटकों का आगमन हुआ, जो 2016 में आए 1.5 लाख पर्यटकों की तुलना में 16.7 प्रतिशत बढ़ोतरी को दर्शाता है। 2017 में घरेलू पर्यटकों का आगमन 95.7 लाख रहा, जबकि 2016 में 77.7 लाख घरेलू पर्यटक आए थे। इस प्रकार 2016 की तुलना में 22.8 प्रतिशत की दोहरे अंकों वाली प्रभावशाली बढ़ोतरी हुई। पर्यटकों की बढ़ती हुई संख्या ने इस क्षेत्र के स्थानीय लोगों के लिए बेहतर रोजगार के अवसर जुटाए है।

स्वदेश दर्शन योजना

  • स्वदेश दर्शन योजना पर्यटन मंत्रालय की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है।
  • यह योजना एक सुयोजित और प्राथमिकता वाले तरीके से विषयक सर्किटों के विकास के लिए शुरू की गई है।
  • इस योजना के तहत सरकार एक ओर पर्यटकों को बेहतर अनुभव और सुविधाएं उपलब्ध कराने और दूसरी ओर आर्थिक प्रगति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से देश में गुणवत्तायुक्त बुनियादी ढांचे के विकास पर ध्यान केन्द्रित कर रही है।
  • यह योजना 2014-15 में शुरू की गई थी और आज तक मंत्रालय ने 30 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में 5932.05 करोड़ रुपये लागत की 74 परियोजनाओं को मंजूरी दी है। इन परियोजनाओं में से 30 परियोजनाओं/प्रमुख घटकों के इस वर्ष तक पूरे होने की उम्मीद है।

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *