यूएवी रुस्तम-2  का सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण

  • रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (डीआरडीओ) ने 25 फरवरी, 2018 को कर्नाटक के चित्रदुर्ग स्थित अपने चलाकेर एयरोनॉटिकल टेस्ट रेंज से मानवरहित युद्धक हवाई यान (Unmanned Aerial Vehicle: UAV) रुस्तम-2  का सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया।
  • इस यूएवी ड्रोन का निर्माण अमेरिका के प्रीडेटर ड्रोन के अनुरुप किया जा रहा है जिससे कि यह तीनों सेनाओं के लिए 24 घंटे की निगरानी व टोही (आईएसआर-Intelligence, Surveillance and Reconnaissance: ISR) की भूमिका निभा सके।
  • यह विभिन्न तरह के पेलोड को अपने साथ ले जाने में सक्षम है जिनमें शामिल है; सिंथेटिक अपार्चर रडार, इलेक्ट्रॉनिक इंटेलीजेंस सिस्टम इत्यादि।
  • यह रूस्तम श्रृंखला की यूएवी का हिस्सा है जिसमें शामिल हैं; रूस्तम-आई, रूस्तम-एच व रूस्तम-सी।
  • यह मध्यम ऊंचाई दीर्घ सहन की क्षमता (Medium Altitude Long Endurance: MALE) से युक्त ड्रोन है।
  • यह फ्लाइट इस तथ्य के कारएा काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि उच्च पावर इंजन के साथ यूजर कन्फिगुरेशन में यह पहली फ्लाइट है। 
  • यह 280 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से मीडियम रेंज इलेक्ट्रो ऑप्टिक (Medium Range Electro Optic: MREO), लॉन्ग रेंज ऑप्टिक (Long Range Electro Optic: LREO), सिंथेटिक अपर्चर रडार (SAR), इलेक्ट्रॉनिक इंटेलीजेंस (ELINT), कम्युनिकेशंस इंटेलीजेंस (COMINT) जैसे पेलोड ले जा सकता है। 



Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *