आयुर्वेद दिवस 5 नवंबर को देशभर में मनाया जाएगा

  • आयुष मंत्रालय प्रत्‍येक वर्ष धनवंतरी जयंती के अवसर पर आयुर्वेद दिवस मनाता है। इस बार आयुर्वेद दिवस 5 नवंबर को मनाया जाएगा। इस उपलक्ष्‍य में आयुष मंत्रालय नीति आयोग के साथ मिलकर 4 और 5 नवंबर, 2018 को नई दिल्‍ली में आयुर्वेद में उद्यमिता और व्‍यापार विकास पर एक संगोष्‍ठी का आयोजन कर रहा है।
  • इसका उद्देश्‍य आयुर्वेद क्षेत्र से जुड़े हितधारकों और उद्यमियों को कारोबार के नए अवसरों के प्रति जागरूक करना है।
  • यह संगोष्‍ठी आयुर्वेद उत्‍पादों की बाजार हिस्‍सेदारी 2022 तक तीन गुना करने के आयुष मंत्रालय द्वारा तय किए गए बड़े लक्ष्‍य की दिशा में उठाया गया एक कदम है। 
  • संगोष्‍ठी के माध्‍यम से व्‍यापार के अवसरों के बारे में  हितधारकों के बीच जागरूकता पैदा की जा सकेगी,  युवा उद्यमियों को नई प्रौद्योगिकी और नवाचारों का उपयोग करने के लिए प्रोत्‍साहित किया जा सकेगा तथा वैश्विक स्‍तर पर आयुर्वेद उत्‍पादों के लिए अवसरों के बारे में जानकारी उपलब्‍ध कराई जा सकेगी। संगोष्‍ठी में विपणन, वित्‍तीय प्रबंधन, नवाचार, टेली मेडिसिन और स्‍टार्टअप के विशेषज्ञ तथा नीति निर्माता और आयुर्वेद फार्मा और चिकित्‍सा उद्योग क्षेत्र के अनुभवी लोग प्रतिभागियों के साथ अपने अनुभव साझा करेंगे और उनका मार्ग दर्शन करेंगे। 
  • तीसरे आयुर्वेद दिवस के अवसर पर 5 नवंबर को आयुष स्‍वास्‍थ्‍य प्रणाली का इलेक्‍ट्रोनिक माध्‍यम से रिकॉर्ड रखने के लिए आयुष-स्‍वास्‍थ्‍य प्रबंधन सूचना प्रणाली (A-HMIS) के नाम से एक समर्पित सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन लांच किया जाएगा। इसे शुरूआती चरण में देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में 15 आयुष इकाइयों में शुरू किया जाएगा। इससे आयुर्वेद, योग, यूनानी, सिद्ध और होम्‍योपैथी चिकित्‍सा के तरीकों में आधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्‍तेमाल कर और प्रभावी बनाया जा सकेगा.

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *