प्रधानमंत्री ने वृंदावन में अल्प सुविधा प्राप्‍त बच्‍चों को तीन अरबवीं भोजन थाली परोसी

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने 11 फरवरी, 2019 को  उत्‍तर प्रदेश के  वृंदावन चंद्रोदय मंदिर में अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा तीन अरबवीं भोजन थाली परोसे जाने के अवसर पर पट्टिका का अनावरण किया।
  • प्रधानमंत्री ने अल्प सुविधा प्राप्त स्‍कूली बच्‍चों को तीन अरबवीं भोजन थाली परोसी। उन्होंने इस्कॉन के आचार्य श्री प्रभुपाद् के विग्रह को भी पुष्पांजलि अर्पित की।
  •  प्रधानमंत्री ने अक्षय पात्र फाउंडेशन के प्रयासों की सराहना की और कहा कि 1500 बच्चों को भोजन उपलब्‍ध कराने से शुरू हुआ आंदोलन आज देश भर के स्कूलों के 17 लाख बच्चों को मिड डे मील प्रदान कर रहा है। उन्हें इस बात पर प्रसन्‍न्‍ता व्‍यक्‍त की कि भोजन की पहली थाली अटल बिहारी वाजपेयी जी के कार्यकाल में परोसी गई थी और उन्हें तीन अरबवीं भोजन थाली परोसने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि अच्छा पोषण और स्वस्थ बचपन आधुनिक भारत की बुनियाद है।
  • पोषण, टीकाकरण और स्वच्छता: प्रधानमंत्री ने कहा कि- स्वास्थ्य के 3 पहलूओं-: पोषण, टीकाकरण और स्वच्छता को उनकी सरकार द्वारा प्राथमिकता दी गई है और राष्ट्रीय पोषण मिशन, मिशन इन्द्रधनुष और स्वच्छ भारत अभियान प्रमुख पहले हैं। प्रत्‍येक मां और बच्चे को उचित पोषण उपलब्‍ध कराने की प्रतिबद्धता को दर्शाते हुए राष्ट्रीय पोषण मिशन पिछले साल शुरू किया गया था।  
  • मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यक्रम में 5 और टीके जोड़े गए हैं। अब तक 3 करोड़ 40 लाख बच्चों और 90 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जा चुका है। प्रधानमंत्री ने एक मेडिकल जर्नल द्वारा मिशन इन्द्रधनुष को वैश्विक स्‍तर की 12 सर्वश्रेष्ठ प्रथाओं में से एक चुने जाने की सराहना की।
  • स्वच्छ भारत अभियान और स्वच्छता के बारे में  उन्होंने कहा कि एक अंतर्राष्ट्रीय रिपोर्ट में कहा गया है कि शौचालयों के उपयोग से 3 लाख लोगों की जान बचाई जा सकती है। स्वच्छ भारत अभियान इसी दिशा में एक पहल है।
  • प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, उज्ज्वला योजना, राष्ट्रीय गोकुल मिशन सहित सरकार की अन्य पहलों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत सरकार ने अकेले उत्तर प्रदेश में 1 करोड़ मुफ्त गैस कनेक्शन प्रदान किए हैं। 
  • अक्षय पात्र फाउंडेशन मध्याह्न भोजन कार्यक्रम के तहत लाखों बच्चों को गुणवत्ता, स्वच्छ और पौष्टिक भोजन उपलब्‍ध कराने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करता है। फाउंडेशन ने बारह राज्‍यों के 14,702 स्कूलों में 1.76 मिलियन बच्चों को मध्याह्न भोजन परोसा है। 2016 में, अक्षय पात्र फाउंडेशन ने भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की उपस्थिति में 2 अरबवीं भोजन की थाली परोसी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अल्प सुविधा प्राप्त  स्‍कूली बच्चों को 3अरबवीं भोजन की थाली परोसा जाना समाज के गरीब और हाशिए के वर्गों तक पहुँच बनाने की दिशा में उठाया गया एक अन्‍य कदम है।

Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *