उष्णकटिबंधीय चक्रवात गीता

    • प्रशांत महासागरीय देश टोंगा में उष्णकटिबंधीय चक्रवात गीता के कारण 100 वर्ष से अधिक पुरानी संसद भवन ध्वस्त हो गयी। राजधानी नुकुआलोफा इससे बुरी तरह प्रभावित हुयी। 
    • श्रेणी-चार के इस चक्रवात ने 12 फरवरी की रात्रि में टोंगा के द्वीपों को अपने चपेट में ले लिया। स्थिति की गंभीरता को देखते हुये सरकार ने आपात स्थिति की घोषणा कर दी। 
    • यूएस ज्वाइंट टायफून वार्निंग सिस्टम, जो कि पश्चिमी प्रशांत के लिए पूर्वानुमान जारी करती है, के अनुसार यह चक्रवात अपने साथ 145 मील प्रति घंटा से अधिक की वायु गति लेकर आयी जिसके कारण तबाही अधिक देखी गयी। 
    • विगत 60 वर्षों में टोंगा का यह सबसे शक्तिशाली चक्रवात था। 
    • इस चक्रवात से टोंगा के आसपास के देशों यथा फिजी, वनुआतु, न्यू कैलेडोनिया को भी आंशिक रुप से प्रभावित किया। 
    • टोंगा 169 द्वीपों का समूह है जिनमें केवल 36 पर ही आबादी है। 




Written by 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *